Claim Giveaway Token Proof of Reserve

एक्सचेंज आपके बिटकॉइन को बेचते हैं :विश्लेषक का दावा

10-May-2022 By: Sudeep Saxena
एक्सचेंज आपके बिटकॉइ

विश्लेषक का दावा: एक्सचेंज आपके बिटकॉइन को बेचते हैं

एक क्रिप्टो विश्लेषक ने दावा किया कि बिटकॉइन को एक्सचेंजों के भीतर रखने से वे इसे किसी और को बेच सकते हैं!

सुरक्षा उल्लंघन और हैक अक्सर सेंट्रलाइजड  एक्सचेंजों पर बिटकॉइन (BTC) के भंडारण के जोखिमों को उजागर करते हैं। एक विश्लेषक का यह भी दावा है कि अपने BTC को एक्सचेंजों पर रखना भी कीमतों में गिरावट का एक कारक है।

स्कोप मार्केट्स केन्या के अनुसंधान एवं बाजार विश्लेषक रूफस कामाऊ ने अपने विचारों को साझा किया कि कैसे BTC को एक्सचेंज पर रखने से कॉइन  की कीमत कम हो जाती है। कमाऊ का मानना है कि एक्सचेंजों पर BTC खरीदना केवल "आई ओव यू" (IOU) खरीदने के बराबर है, जिसे वह "पेपर बिटकॉइन" के रूप में वर्णित करता है।

विश्लेषक यह भी बताते हैं कि एक्सचेंज बीटीसी को वापस लेने को हतोत्साहित करने के लिए कई तरीके बनाते हैं जैसे कि उच्च निकासी शुल्क। दूसरी ओर, एक्सचेंज स्टेकिंग सेवाएं प्रदान करके बीटीसी को एक्सचेंजों के भीतर रखने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

कमाउ के अनुसार, ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि एक्सचेंज बिटकॉइन को अन्य खरीदारों को बेचने में सक्षम होते हैं, जबकि बिटकॉइन IOU के मालिक अपने बीटीसी पर एनुअल परसेंटेज अर्जित करके खुश रहते हैं।

कमाऊ का दावा है कि, इस प्रक्रिया के कारण जो निवेशक बीटीसी खरीदते हैं और इसे एक्सचेंजों के भीतर रखते हैं, उन्हें घाटे का सामना करना पड़ता है क्योंकि यह प्रक्रिया एक्सचेंजों को बिटकॉइन "प्रिंट" करने में सक्षम बनाती है और जैसे-जैसे आपूर्ति बढ़ती है, कीमत कम होती जाती है। उन्होंने यूज़र्स से एक्सचेंजों से अपनी हिस्सेदारी को दूर रखने का भी आग्रह किया "यदि आप बिटकॉइन के साथ दुनिया को बदलना चाहते हैं तो ये तार्किक बात है।"

जहां कई लोगों ने ट्विटर पर कमाउ के सूत्र को लाइक और रीट्वीट किया, वहीं कई लोग उनकी टिप्पणी से सहमत नहीं भी थे।

क्रिप्टो एक्सचेंजों ने इनकार नहीं किया कि कुछ एक्सचेंजों के साथ ऐसा हो सकता है। हालांकि, LBank के चेयरमैन एरिक हे ने बताया कि जो एक्सचेंज इस अभ्यास को करते हैं उन्हें सबक सिखाया जाएगा। उन्होंने कहा की :

"मार्केट उन एक्सचेंजों को सबक सिखाएगा जो उपयोगकर्ताओं के बिटकॉइन बेचते हैं क्योंकि वे अपने द्वारा बेचे गए बिटकॉइन को वापस नहीं खरीद पाएंगे। इस तरह के एक्सचेंज निश्चित रूप से विफल हो जाएंगे।"

उन्होंने आगे बताया कि डिजिटल एसेट एक्सचेंज जो इस समय फल-फूल रहे हैं और विस्तार कर रहे हैं, वे दृढ़ता से क्रिप्टो करेंसी में विश्वास रखते हैं। यह वो लोग  हैं जो मानते हैं कि बीटीसी $100,000 के निशान तक पहुंच सकता है और इसलिए अन्य लोगों के बिटकॉइन बेचने जैसी संदेहपूर्ण चीजें करने के बजाय बीटीसी खरीद रहे हैं।

बायनेन्स ने भी इस मुद्दे पर अपनी राय दी। एक बयान में, बायनेन्स के प्रवक्ता ने बताया कि एक्सचेंज बिना सहमति के अपने उपयोगकर्ताओं के फंड को स्थानांतरित करने के लिए अधिकृत नहीं हैं। उन्होंने कहा कि उनकी कंपनी के भीतर, "यूज़र्स  की क्रिप्टो संपत्ति ऑफ़लाइन, कोल्ड स्टोरेज सुविधा जो कि एक्सचेंज के भीतर सुरक्षित रूप से संग्रहीत रखी जाती हैं।"



WHAT'S YOUR OPINION?
Related News
Related Blogs
`