सस्ता टोकन का दावा करें रिजर्व का प्रमाण

क्रिप्टो bloodbath क्या है ?। समझे क्रिप्टो Bloodbath CoinGabbar से

महत्वपूर्ण बिंदु
  • Crypto, Bloodbath, Market trend
14-Jul-2022 Rohit Tripathi
क्रिप्टो bloodbath क्या है ?। समझे क्रिप्टो Bloodbath CoinGabbar से


क्रिप्टो मार्केट ने पिछले महीनों में एक blood bath देखा है, केवल सात महीनों में $3 ट्रिलियन (INR 234.6 ट्रिलियन) के all-time high पर पहुंचने के बाद, यह घटकर $769 बिलियन (INR 6.1 ट्रिलियन) हो गया। यह 75% की भारी गिरावट है, इस प्रकार, कई फर्म में भरी नुकसान हो रहा है।

 छोटे टाइम फ्रेम के बारे में बात करते हुए, ऐसा लगता है कि Bitcoin $17K (INR 1.3Million) से उछाल ले रहा है, जो महीनों की गिरावट के बाद अपेक्षित था। ऐसा लगता है कि यह $23,900 (INR 18.4 मिलियन) support को टेस्ट करेगा। चूंकि Bitcoin पूरे बाजार पर हावी है| BTC-alt में आपसी सम्बन्ध है, इसलिए, altcoins Bitcoin के प्राइस एक्शन जैसा व्यव्हार करता हैं, लेकिन पिछले कुछ हफ्तों में 48% से 43% की भारी गिरावट देखी गई है| इसका मतलब है कि क्रिप्टो का मार्केट कैप Bitcoin का 48% था और अब यह 43% है। altcoin की बात करे तो यह altcoin होल्डर्स के लिए अच्छी खबर है क्योंकि पैसा altcoin में जा रहा है| चलिए Ethereum के बारे में बात करते हैं।

Ethereum के मामले में, जिसने कुछ सप्ताह पहले कुछ altcoins के साथ $2,159(INR3,500) के साथ एक शानदार रैली देखी, support को तोड़ने में असफल रहने के बाद, यह गिरकर $881(INR 69K) हो गया। दिलचस्प बात यह है कि BTC की तरह, यह $880-$900(INR71k - INR 73K) support area से बाउंस हो गया और $ 1700 (INR133K) resistance पर पहुंचने करने की उम्मीद है। Ropsten network अपग्रेड के कुछ दिनों बाद, Ethereum की कीमत बढ़ी क्योंकि यह नए डेवलपर्स के लिए और अधिक अपनाने और उपयोग में आसानी को बढ़ावा देता है। 19 जुलाई को होने वाली ETH CC5 कांफ्रेंस, नेटवर्क के भविष्य और इसकी कीमत के बारे में अधिक जानकारी देगा।

समय-समय पर, क्रिप्टो करेंसी मार्केट ने बिलियन डॉलर की कैपिटल का लिक्विडेशन किया है। पिछले कुछ वर्षों में Bitcoin को $4K (INR310K) से $69K (INR 5.4 मिलियन) तक की रैली देने के बाद क्रिप्टो करेंसी का इस स्तर तक गिरना सामान्य है। जबकि वेंचर कैपिटल फंडों ने क्रिप्टो करेंसी में पंप करना शुरू कर दिया है, मुख्य रूप से DeFi  और Metaverse, आइए हम उन महत्वपूर्ण घटनाओं पर ध्यान दें, जिन्होंने bloodbath को संभव बनाया और कैसे इसी तरह की घटनाएं गिरावट को संभव बना रही हैं।

गवर्नमेंट रेगुलेशन 

समय और समय पर, Bitcoin की मिड-टर्म प्राइस में सरकारी कार्रवाई एक महत्वपूर्ण कारण साबित हुई है क्योंकि ये नियम तय करते हैं कि कौन सा मार्केट इंडस्ट्री में शामिल हो सकता है या नहीं। पिछले साल, क्रिप्टो करेंसी माइनिंग पर चीन की कार्रवाई ने Bitcoin की कीमत $ 65k (INR 5.2 मिलियन) से $29K (INR2.2 मिलियन) तक कम कर दी थी। वही अमेरिकी रेगुलेटर्स की बात की जाए तो, पिछले साल इंफ्रास्ट्रक्चर बिल के कारण Bitcoin मार्केट में अचानक डंप हो गया क्योंकि बिल ने डिसेंट्रलाइज़ेशन वॉलेट को मुश्किल बना दिया |

अन्य कई कारकों के कारण नवंबर 2021 में Bitcoin में गिरावट आई, चीन ने सितंबर 2021 में क्रिप्टो करेंसी को अवैध घोषित किया और ऐसा माना जा रहा था कि भारत शीतकालीन संसद में क्रिप्टो करेंसी पर प्रतिबंध लगाने पर विचार करेगा। 

अमेरिका और चीन के अलावा अन्य देशों के रेगुलेशन का भी मार्केट पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है। उदाहरण के लिए, भारत के 30% टैक्स और क्रिप्टो ट्रांसक्शन्स पर 1% TDS से WazirX जैसे स्थानीय एक्सचेंजों पर बड़े पैमाने पर बिक्री हुई, जिससे एक्सचेंज पर बड़े पैमाने पर लिक्विडिटी की कमी हुई। यहां तक कि USDT जैसी स्टेबल कॉइन की कीमत लगभग 64 रुपये तक गिर गई, जबकि अनुमान लगाई गई कीमत 75 रुपये से अधिक होनी चाहिए थी।

 रेगुलेशन कभी-कभी Bitcoin की कीमतों को भी सकारात्मक रूप से प्रभावित करता है, उदाहरण के लिए, Bitcoin ETF समाचार ने BTC को पिछले साल अक्टूबर में $ 3K (INR 234K) के आसपास चढ़ने में मदद की।

इकॉनमी 

इकॉनमी दुनिया भर में सभी एसेट्स और कमोडिटीज की कीमतों को प्रभावित करने वाला एक कारक है। US सबसे प्रमुख इकॉनमी है, और US Fed द्वारा उठाए गए कदम क्रिप्टो बाजारों को काफी हद तक प्रभावित करते हैं।

कई कारको के कारण इकॉनमी स्थिर हुई है, Bitcoin को करेंसी के रूप में अपनाने से वेनेजुएला और अफगानिस्तान की विफल अर्थव्यवस्थाओं को बहुत मदद नहीं मिली है, फिर भी, जिन लोगों ने उन देशों में क्रिप्टो करेंसी में निवेश किया था, वे निश्चित रूप से संकट में सबसे कम थे क्योंकि स्थानीय करेंसी के मुकाबले BTC की कीमतों में काफी बढ़त हुई थी, तब भी जब बाजार गिर रहा था। इसलिए, सोने की तरह Bitcoin भी गिरती इकॉनमी के खिलाफ एक बचाव का तरीका है, लेकिन पूरे बाजार को सही प्रकार से चलने के लिए एक योजना बना कर चलने की आवश्यकता है।

हाल ही में US Fed के चेयरमैन द्वारा ब्याज दरों में 70 bps की बढ़ोतरी की घोषणा के बाद बाजार में रिवर्सल के संकेत मिले | उन्होंने यह भी घोषणा की कि यह अर्थव्यवस्था को स्थिर करने के लिए $9 ट्रिलियन (INR 704 ट्रिलियन) के पोर्टफोलियो और गिरवी एसेट्स को कम किया जाएगा।

राजनीतिक घटनाएं

कुछ खास वैश्विक राजनीतिक घटनाएं, हमेशा इकॉनमी और ग्लोबल मार्केट को सीधे प्रभावित करने के लिए जिम्मेदार होती है कजाकिस्तान ऐसा ही एक उदाहरण है। कजाकिस्तान अपनी सस्ती बिजली के कारण क्रिप्टो करेंसी माइनिंग का मुख्य स्थान है, पर देश में ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी के कारण कैबिनेट को इस्तीफा देने के लिए मजबूर होना पड़ा और इंटरनेट बंद कर दिया गया। जिसके कारण ग्लोबल लेवल पर  Bitcoin की कीमत में अचानक गिरावट आई और hash rate में 31% की गिरावट आई, यह केवल एक घटना नहीं थी जिसने dump को बढ़ावा दिया ।

पिछले साल अक्टूबर में, चीन का ऊर्जा संकट, जो बाद में दुनिया के बाकी हिस्सों में फैल गया। चीन में ऊर्जा संकट तब शुरू हुआ जब प्रमुख कोयला कंपनियों ने,  प्रोडक्शन और बिज़नेस की लगातार बढ़ती मांग पर अनावश्यक रोक लगाना शुरू कर दी। ज्यादा एनर्जी कॉस्ट Bitcoin की माइनिंग की कॉस्ट को बढ़ाती है जिससे माइनर्स ज्यादा लाभ नहीं कमा पाते।

यूक्रेन-रूस युद्ध शायद सबसे प्रमुख कारण है जिसके कारण मार्केट में कई उलटफेर देखने को मिल रहे हैं, इस साल की शुरुआत से ही इस बात की आशंका बनी हुई थी कि युद्ध हो सकता है। यूक्रेन-रूस युद्ध ने क्रिप्टो मार्केट को दो तरीकों से प्रभावित किया|

क्रिप्टो का इक्विटी से संबंध

क्रिप्टो करेंसी और शेयर बाजार का एक मजबूत संबंध है, युद्ध के कारण अधिकांश शेयर बाजार गिर चूका है| युद्ध ने कमोडिटी मार्केट को सीधे प्रभावित किया, जिसके बाद domino effect शुरू हो गया। 

दुनिया भर में ऊर्जा का संकट

जैसा कि ऊपर बताया गया है, दुनिया पहले से ही एक ऊर्जा संकट का सामना कर रही थी, और यूरोपीय संघ द्वारा रूस पर लगाए गए सैंक्शंस ने प्राकृतिक गैस और अन्य ऊर्जा-संबंधित वस्तुओं की कॉस्ट में वृद्धि की है।

अन्य कारक

Terra की समस्याए

Terra Luna क्रिप्टो और ब्लॉकचेन इंडस्ट्री का एक प्रमुख इकोसिस्टम था। Terra को एक एल्गोरिथम-बेस्ड स्टेबल कॉइन UST द्वारा चलाया गया था जिसे अस्थिरता और बाजार में लिक्विडिटी की कमी के कारण डिबग किया गया था। peg को बचाने के लिए, Luna Foundation Guard या LFG, जिसे ऐसे हालातो में इकोसिस्टम और peg को बचाने का काम सौंपा गया था, peg को बचाने की कोशिश करने के लिए अरबों डॉलर के Luna और Bitcoin को बेचना पड़ा। जबकि LFG की कोशिश सफल नहीं रही और Terra ने क्रिप्टो करेंसी मार्केट छोड़ दिया।

एलोन मस्क का प्रभाव

दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति एलोन मस्क हैं। अपने प्रभाव और ताकत के कारण, उन्होंने  DogeCoin नामक एक मीम कॉइन को बढ़ावा देने के लिए ट्विटर का उपयोग किया जिससे मार्केट में अब तक की सबसे बड़ी रैली देखि गई। जब एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में BTC के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि उनके पास Bitcoin और Ethereum है और उन्हें अभी इनसे काफी उम्मीदें है | मार्केट ने इस खबर का अच्छा असर रहा, और कई ट्वीट्स के बाद, एलोन के ट्वीट्स ने बाजार को नकारात्मक रूप से प्रभावित करना शुरू कर दिया, जिससे बाजार नीचे गिर गया।

Celcius network

क्रिप्टो करेंसी लोन देने वाला प्लेटफॉर्म Celecius Network बंद हो गया । नेटवर्क पर लिक्विडिटी की कमी ने नेटवर्क को बैंक चलाने और विथड्रॉवल्स को रोक दिया। यह बाजार के साथ अच्छा नहीं हुआ, और एक नई समस्या जो लंबे समय से छुपी हुई थी,सबके सामने आ गई। 

पिछले दो वर्षों में, क्रिप्टो करेंसी मार्केट ने डिजिटल एसेट के इतिहास में सबसे अच्छी और सबसे खराब रैलियों को देखा है।

बाजार अस्थिर है फिर भी फायदेमंद है, लेकिन मार्केट में प्रवेश करते समय, इसके बारे में जानकारी की आवश्यकता है, नहीं तो भरी नुकसान उठा सकते है । 



व्हाट यूअर ओपिनियन
सम्बंधित खबर
संबंधित ब्लॉग
`