सस्ता टोकन का दावा करें रिजर्व का प्रमाण

क्रिप्टो करेंसी के बारे में कैसे सीखें लोगो के लिए सरल क्रिप्टो गाइड

04-Jul-2022 Shailja Joshi
क्रिप्टो करेंसी के बारे में कैसे सीखें लोगो के लिए सरल क्रिप्टो गाइड


क्रिप्टो करेंसी की दुनिया अस्थिर है और तेजी से बदल रही है| 

यदि आप सही कदम उठाते है, तो यह दुनिया के सबसे अधिक लाभदायक मार्केट्स में से एक है, यह फिनटेक की सबसे लोकप्रिय टेक्नोलॉजी में से एक - blockchain, को बड़े पैमाने पर अपनाने के कारण है।

क्रिप्टो मार्केट को सीखना एक कठिन और समय लेने वाला काम है, लेकिन बाजार में प्रवेश करने के लिए आपको जीन ज़रूरी बातों की आवश्यकता होती है, वे थोड़े समय में सीखी जा सकती हैं। मार्केट में शामिल होने से पहले हमें जिन ज़रूरी बातो की आवश्यकता होती है, वे यहां दी गई हैं।

टेक्निकल नॉलेज  

मार्केट में आने से पहले, आपको क्रिप्टो करेंसी का मतलब जानना होगा।

क्रिप्टो करेंसी क्या हैं?

क्रिप्टो करेंसी डिजिटल कॉइन्स हैं जो blockchain technology पर काम करते हैं और एक डिसेंट्रलाइस्ड कल्चर पर आधारित होते हैं। ये क्रिप्टो करेंसी हर node के लिए एक लेज़र बनाए रखती हैं, जिससे ट्रांसक्शन में धोखाधड़ी होना असंभव हो जाता है। cryptography यह सुनिश्चित करती है कि कोई भी हानिकारक पक्ष आपके फंड पर कब्जा न करे।

blockchain क्या है?

यह समझना बहुत जरुरी है कि आप खुद को कहाँ ले जा रहे है इसलिए Bitcoin और अन्य क्रिप्टो करेंसी जिस टेक्नोलॉजी पर काम कर रही है, वह है - blockchain जिसे समझना बेहद जरुरी है। 

Blockchain, computer nodes का एक नेटवर्क सिस्टम है जो अलग-अलग कम्प्यूटर्स पर फैले हुए ledger के एक नेटवर्क को बनाए रखता है। सभी nodes का अपना लेज़र होता है जहां प्रत्येक नोड का डेटा रिकॉर्ड किया जाता है और यह बदला नहीं जा सकता है। nodes के बीच नियमित ऑडिटिंग के बाद, नेटवर्क धोखाधड़ी वाले नोड को बाहर निकाल देता है। Blockchain को लेनदेन को आगे बढ़ाने के लिए nodes के बीच आम सहमति की आवश्यकता होती है, लेनदेन वास्तविक है या धोखाधड़ी यह तय करने के लिए प्रत्येक नोड को किसी न किसी प्रकार का प्रमाण देना होगा। blockchain दो प्रकार का होता है, proof of work और proof of stake।

  

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि सभी  क्रिप्टो करेंसी blockchain पर आधारित हैं, Blockchain के कई उपयोग हैं, क्रिप्टो करेंसी सबसे आवश्यक उपयोग है।

Proof of Work

Proof of Work (PoW) में Blockchain nodes को प्रामाणिकता को साबित करने के लिए अपने कंप्यूटर की computational capability का उपयोग करके mathematical puzzles को हल करना होता है। GPU की बढ़ती शक्ति के साथ कैलकुलेशन की कठिनाई भी बढ़ती जा रहती है।  Proof of Work का उपयोग Bitcoin, Ethereum और Dogecoin जैसी प्रमुख क्रिप्टो करेंसी द्वारा किया जाता है।

Proof of Stake

Proof of Stake(POS) में, मशीन की कम्प्यूटेशनल पावर का उपयोग करने के बजाय यूज़र, लेनदेन को मान्य करने के लिए अपनी खुद की क्रिप्टो करेंसी को stake पर लगाते हैं, इसलिए उन्हें वेलिडेटर्स के रूप में जाना जाता है, PoW वेलिडेटर्स को माइनर्स के रूप में जाना जाता है।

क्रिप्टो मार्केट

क्रिप्टो मार्केट वह जगह है जहां एक क्रिप्टो करेंसी का मूल्य तय किया जाता है, यहां हजारों क्रिप्टो करेंसी हैं, और इन कॉइन्स को एक्सचेंज पर लिस्टेड होने के लिए वॉल्यूम की आवश्यकता होती है ताकि क्रिप्टो ट्रेडर्स क्रिप्टो करेंसी खरीद या बेच सकें इसलिए क्रिप्टो मार्केट की मूल बातें समझना जरूरी है।

क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज

क्रिप्टो एक्सचेंज क्रिप्टो ट्रेडर्स के लिए क्रिप्टो कर्रेंसीस खरीदने और बेचने के लिए एक जगह है, इसके अलावा, ये एक्सचेंज विभिन्न प्रकार के derivative contracts की पेशकश करते हैं जो आपको leverage का उपयोग करने और price movements के दोनों ओर बाजार में दांव लगाने में सक्षम बनाते हैं। क्रिप्टो एक्सचेंज दो प्रकार के होते हैं, सेंट्रलाइज्ड और डिसेंट्रलाइस्ड।

लिक्विडिटी पूल

मान लीजिये कि एक एसेट पर बाइंग प्रेशर है, और कम सेलर्स हैं। लिक्विडिटी पूल एसेट के रिज़र्व्स हैं, जो एक्सचेंजों द्वारा रखे जाते हैं और इसलिए बनाए जाते हैं ताकि बायर्स के लिए पर्याप्त कॉइन्स रहे |

एयरड्रॉप्स

मार्केटिंग स्ट्रेटजीज के हिस्से के रूप में, एयरड्रॉप्स प्रतिभागियों को मुफ्त क्रिप्टो करेंसी वितरित करते हैं। यह जीतने पर मुफ्त में दिए जाते है |

Bitcoin हाल्विंग 

Bitcoin हाल्विंग एक चार साल का चक्र है जो बाजार के ट्रैंड को तय करता है, हर चार साल में, Bitcoin की कीमतें इन चक्रों के कारण नए आल टाइम हाई (ATH) पर पहुंच जाती हैं। जब भी Bitcoin हाल्विंग होता है, यह एक नए bull market cycle की शुरुआत करता है।

क्रिप्टो करेंसी genres के लोकप्रिय प्रकार

bull run के दौरान, कई क्रिप्टो करेंसी कुछ समय के लिए अन्य एसेट्स से बेहतर प्रदर्शन करती हैं। इन घटनाओं को ट्रेंड वेव्स के रूप में जाना जाता है और ये genre-specific हैं और यही कारण है कि निवेशक अपने पैसे को कम समय में बढ़ा सकते हैं। नीचे कुछ सबसे लोकप्रिय साधन दिए हैं।

DeFi

DeFi, या Decentralized Finance, फिनटेक मार्केट में सबसे तेजी से बढ़ने वाले साधनो में से एक है। DeFi वितरित लेज़रों के डिसेंट्रलाइस्ड सिस्टम का एक नेटवर्क है, जो क्रिप्टो करेंसी द्वारा उपयोग किए जाने वाले सिस्टम के समान है। DeFi एक बैंक है जो किसी भी प्रकार के सेंट्रल अथॉरिटी की आवश्यकता के बिना काम करता है।


NFT

क्रिप्टो को आप जानते हो या नहीं, आपने NFT के बारे में जरूर सुना होगा। NFT blockchain-आधारित टोकन हैं जो बदले नहीं जा सकते है, यह आर्टवर्क से लेकर पहचान पत्र तक कुछ भी हो सकते हैं। NFT के कई अन्य संभावित उपयोग भी हैं और इसलिए पिछले कुछ वर्षों में इसकी कीमतों में उछाल आया है।

Metaverse

Metaverse एक साइबर दुनिया है, ज्यादातर 3D अवतार-आधारित है और यूज़र्स को VR की मदद से बातचीत करने, गेम खेलने और नई चीजों का अनुभव करने देती है। कई Metaverse गेम हैं जो अभी चलन में हैं, और Metaverse गेमिंग के नए युग की और ले जा रहे है, जो हमें P2E क्रिप्टो करेंसी में लाता है।

Play 2 Earn

जब Metaverse, DeFi से मिलता है तो Play 2 Earn या GameFi प्रोजेक्ट काम करते है, गेमर्स को मुफ्त में खेले जाने वाले गेम्स के लिए NFT और क्रिप्टो करेंसी रिवॉर्ड में दिए  जाते है |

Layer1 projects

Layer1 blockchain प्रोजेक्ट ऐसी योजनाएं हैं जो यूज़र्स को अपने स्वयं के डिसेंट्रलाइस्ड एप्लिकेशन या DApps और स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स बनाने में मदद करता है। Bitcoin और Ethereum जैसी क्रिप्टो करेंसी Layer1 blockchain प्रोजेक्ट हैं।

Layer2 projects

Layer2 blockchain प्रोजेक्ट Layer1 blockchain पर बनाए गए हैं और नेटवर्क की स्कलबिलिटी और दक्षता को बढ़ाने में मदद करते हैं। Loopring और ImmutableX जैसी योजनाएं Ethereum blockchain पर कुछ लोकप्रिय Layer2 प्रोजेक्ट हैं।

एनालिसिस के  प्रकार

एक कम्युनिटी में, कई प्रकार के अनलिस्ट्स हैं, अलग-अलग प्रकार के एनालिसिस अलग-अलग स्थितियों और समय सीमा के लिए होते हैं।

फंडामेंटल एनालिसिस (FA)

फंडामेंटल एनालिसिस या FA एसेट्स के अंडरलाइंग वैल्यू को समझकर किया जाता है| उदाहरण के लिए, यह एक एनालिस्ट को यह तय करने में मदद करता है कि क्रिप्टो करेंसी मूल्यवान है या नहीं। इस प्रकार के एनालाइसिस आमतौर पर लॉन्ग-टर्म के लिए किए जाते हैं।

टेक्निकल एनालिसिस (TA)

TA या टेक्निकल एनालिसिस, ग्राफ़ और इंडिकेटर जैसे मार्केट डेटा, वॉल्यूम और अन्य इंडिकेटर की सहायता से एसेट वैल्यू की भविष्यवाणी करता है।

प्राइस एक्शन (PA)

प्राइस एक्शन, जिसे PA के रूप में भी जाना जाता है, एनालिसिस का एक रूप है जो ट्रेडों में एंट्री और एग्जिट के लिए संकेतों को बताने के लिए अंडरलाइंग एसेट के फंडामेंटल प्राइस मूवमेंट्स की जांच करता है। PA इसलिए खास है क्योकि इसे इंडीकेटर्स के उपयोग की आवश्यकता नहीं है और यह भरोसेमंद है।

निष्कर्ष

क्रिप्टो मार्केट को उसके नेचर और अस्थिरता के कारण समझना मुश्किल है। लेकिन एक बार जब आप महारत हासिल कर लेते हैं, तो क्रिप्टो बहुत लाभदायक हो सकता है। 

एक बार जब आप मार्केट की हल-चल और बड़े खिलाड़ियों को अच्छी तरह समझ लेते हैं, तो यह बहुत आसानी से समझ में आता है।



व्हाट यूअर ओपिनियन
सम्बंधित खबर
संबंधित ब्लॉग
`