सस्ता टोकन का दावा करें रिजर्व का प्रमाण

क्रिप्टो करेंसी क्या है ? |एक दिन में क्रिप्टो करेंसी कैसे सीखें

महत्वपूर्ण बिंदु
  • क्रिप्टो
16-Jul-2022 Shikha Jha
क्रिप्टो करेंसी क्या है ? |एक दिन में क्रिप्टो करेंसी कैसे सीखें

क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग हाल ही में बेहद लोकप्रिय हो गई है, जो अपने लिए एक अलग जगह बना रही है। अधिकांश निवेशक बिना किसी मेहनत के अपनी एसेट को बढ़ाने की उम्मीद में लंबे समय तक बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टो करेंसी को होल्ड पर रखते हैं, बड़ी संख्या में लोग बिटकॉइन ट्रेडिंग में समय और पैसा लगा रहे हैं। 

ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी बनाने और क्रिप्टो करेंसी में निवेश को गाइड करने के लिए कई साधन उपलब्ध है। यह पोस्ट क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग, क्रिप्टो सिग्नल, और क्रिप्टो करेंसी में इंडीकेटर्स का उपयोग कैसे किया जाता है, इस बारे में आपको जानकारी देगा। 

एक समझदार ट्रेडर के रूप में से एक यह सीखना जरुरी है कि ट्रेडिंग प्रोसेस से भावनाओं को कैसे अलग रखा जाए| हालांकि, यह समझना आवश्यक है कि किस इंडिकेटर का उपयोग कहाँ और कैसे करना है, कुछ सामान्य भूलों से बचने और फायदे को बढ़ाने के लिए बहुत आवश्यक है। यह जानकारी एक ट्रेडर के आत्मविश्वास और अनुभव को बढ़ा सकती है।

क्रिप्टोकरेंसी के लिए टेक्निकल एनालिसिस महत्वपूर्ण है क्योंकि यह एक ऐसा साधन है जो ट्रेडर्स को लाभ देता है, साथ ही मैक्रोइकॉनॉमिक की दृष्टि से मार्केट को समझने और यह पता लगाने में मदद करता है कि कौन सी योजनाएं निवेश करने लायक हैं या नहीं।

टेक्निकल एनालिसिस चार्ट पैटर्न की जांच करता है और पिछले प्राइस एक्शन डेटा के आधार पर इंडीकेटर्स का उपयोग करके भविष्य के रुझानों का अनुमान लगाता है। टेक्निकल एनालिसिस किसी एसेट की कीमत या मात्रा के आधार पर मैथमेटिकल कॅल्क्युलेशन्स करने की प्रक्रिया है। इसके परिणाम भविष्य की कीमतों की भविष्यवाणी करने के लिए उपयोग किए जाते हैं और मार्केट ट्रेंड या ट्रेंड रिवर्सल का संकेत दे सकते हैं। 

कोई भी इंडिकेटर मार्केट के उतार-चढ़ाव का पता नहीं लगा सकता है और न ही इसकी पुष्टि कर सकता है। सबसे अच्छा तरीका अलग-अलग इंडीकेटर्स का उपयोग करना है, या इससे भी बेहतर, उपलब्ध टूल में से केवल कुछ को चुनकर चार्ट में उनका उपयोग करके बेहतर रूप से चार्ट को समझना है |

ट्रेडर्स अपने अनुभव और ट्रेडिंग स्टाइल के आधार पर इंडीकेटर्स चुन सकते है, कोई खास इंडिकेटर नहीं हैं जो दूसरों की तुलना में ज्यादा सही परिणाम देगा | यह सब इस बात पर निर्भर करता है कि ट्रेडर इंडिकेटर का उपयोग करने में कितना सहज है।

कुछ बेहतरीन क्रिप्टो इंडीकेटर्स कौन से हैं?

इंडीकेटर्स अक्सर ऐसी जानकारी देते है जो मार्केट की वर्तमान स्थिति और भविष्य में होने वाले वित्तीय और आर्थिक परिवर्तनों को समझने में मदद करते है। टेक्निकल एनालिसिस में, क्रिप्टो करेंसी में होने वाले बदलाव या प्राइस पैटर्न में परिवर्तन की भविष्यवाणी करने के लिए इंडीकेटर्स का उपयोग किया जाता है। टेक्निकल एनालिसिस भविष्य के प्राइस चेंज की भविष्यवाणी करने के लिए क्रिप्टो करेंसी की पिछली ट्रेडिंग एक्टिविटी और मूल्य में उतार-चढ़ाव को देखता है।

इसके विपरीत फंडामेंटल एनालिसिस में पिछली ट्रेडिंग एक्टिविटी के बजाय कंपनी के फाइनेंस पर ध्यान दिया जाता है| ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी के लिए सही इंडिकेटर चुनना, चाहे वह एक दिन के लिए हो या स्विंग ट्रेडिंग के लिए यह पूरी तरह से उस ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी पर निर्भर करता है जिसे इन्वेस्टर उपयोग करना चाहता है।

मूविंग एवरेज का एवरेज (MA)

टेक्निकल इंडीकेटर्स में मूविंग एवरेज टेक्निकल एनालिसिस में उपयोग करने के लिए सबसे सरल हैं। वे एक तय समय सीमा में किसी एसेट की एवरेज प्राइस बताते हैं। वे बताते हैं कि कोई असेट तेजी में ऊपर की ओर बढ़ रही है या मंदी में नीचे की ओर जा रही है ।

मूविंग एवरेज का उपयोग किसी भी टाइम स्केल पर किया जा सकता है| सबसे लोकप्रिय 200, 50 और 20-टाइम की मूविंग एवरेज हैं, जो ट्रेडर्स को चुने हुए टाइम के डेटासेट के आधार पर एसेट की जानकारी देता है। 

MACD

मूविंग एवरेज कन्वर्जेंस डाइवर्जेंस इंडिकेटर (या ऑसिलेटर) बाइंग और सेलिंग के लिए एक सरल मोमेंटम इंडिकेटर है और क्रिप्टो ट्रेडर्स द्वारा उपयोग किए जाने वाले सबसे लोकप्रिय टूल में से एक है। MACD divergence में दो मूविंग एवरेज एक दूसरे से अलग-अलग चलती है जबकि convergence में दो मूविंग एवरेज एक साथ चलती है  |

इसका क्या अर्थ है, और MACD इंडिकेटर कैसे काम करता है?

क्योंकि यह एक ट्रेंड-फॉलोइंग मोमेंटम इंडिकेटर है, यह आपको ट्रेंड और मोमेंटम दोनों के बारे में सलाह देगा (एसेट की कीमतों में बढ़ोतरी गिरावट की जानकारी देगा)| इसका उद्देश्य क्रिप्टो करेंसी के ट्रेंड्स की ताकत, दिशा, वेग और लंबाई में परिवर्तन दिखाना है।

 RSI

टेक्निकल ट्रेडर्स किसी एसेट के प्राइस चार्ट का अध्ययन कर सकते हैं और उन पैटर्नों की तलाश कर सकते हैं जो सुझाव देते हैं कि MACD और RSI का उपयोग करके कॉइन्स कब खरीदना या बेचना है।

रिलेटिव स्ट्रेंथ इंडिकेटर एक टेक्निकल एनालिसिस इंडिकेटर है जो किसी एसेट की ओवरबॉट या ओवरसोल्ड स्थितियों की पहचान करने के लिए हाल के मूल्य में उतार-चढ़ाव के आधार पर एक क्रिप्टो करेंसी की कमजोरी या ताकत की पहचान करता है। इंडिकेटर का उपयोग डाइवर्जेंस का पता लगाने और ट्रेडर्स को ट्रेंड रिवर्सल की संभावना के प्रति सचेत करने के लिए भी किया जाता है।

बोलिंगर बैंड

बोलिंगर बैंड एक प्रकार का टेक्निकल इंडिकेटर है जो समय के साथ क्रिप्टो एसेट की कीमत और अस्थिरता को दर्शाता है। यह एक टेक्निकल ट्रेडर John Bollinger द्वारा बनाया गया था । प्राइस या वैल्यू  के समूह और एवरेज वैल्यू या प्राइस के बीच अंतर की गणना करने के लिए एक स्टैण्डर्ड डेविएशन का उपयोग किया जाता है।

पुराने मार्केट डेटा का उपयोग करते हुए मार्केट में किसी एसेट के भविष्य के प्राइस मूवमेंट की भविष्यवाणी करते समय, ट्रेडर्स ऊपर बताए गए टेक्निकल एनालिसिस पर भरोसा कर सकते हैं।

हालाँकि, क्रिप्टो करेंसी मार्केट अभी भी एक नया एसेट क्लास  है, जिसमें पुराना मार्केट डेटा बहुत कम है, इसलिए पहले से अनुमान लगाना बेहद मुश्किल है| इसके अलावा, क्रिप्टो बाजार की जबरदस्त अस्थिरता ने अक्सर भविष्य की चालों का अनुमान लगाने के प्रयासों को व्यर्थ कर दिया है।



व्हाट यूअर ओपिनियन
सम्बंधित खबर
संबंधित ब्लॉग
`