सस्ता टोकन का दावा करें रिजर्व का प्रमाण

बिटकॉइन का ट्रेडिंग वॉल्यूम फ़र्ज़ी : फ़ोर्ब्स क्रिप्टो

बिटकॉइन का ट्रेडिंग

फोर्ब्स मैगज़ीन ने 157 क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंजों पर अपना नया विश्लेषण

प्रकाशित किया है, जिसमें यह सामने आया कि विश्लेषण में रिपोर्ट किए गए दैनिक बिटकॉइन एक्सचेंज का वॉल्यूम 51% फ़र्ज़ी है। फोर्ब्स ने जाहिर किये बयान में कहा: आधा या आधे से ज्यादा बिटकॉइन का ट्रेडिंग वॉल्यूम नकली है।

"फोर्ब्स के डिजिटल एसेट" सेक्शन में एक नई रिपोर्ट प्रकाशित की गई जिसमें 157 क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंजों का विश्लेषण प्रस्तुत किया गया, जिसमें पाया गया कि दैनिक बिटकॉइन ट्रेडिंग की मात्रा का 51% नकली है।

मूल रूप से, 14 जून को संदर्भ तिथि के रूप में लेते हुए, फोर्ब्स ने अनुमान लगाया कि उद्योग का वैश्विक दैनिक बिटकॉइन ट्रेड की मात्रा $128 बिलियन थी। यह वॉल्यूम 262 बिलियन डॉलर से 51% कम है यह आकड़ा कई वेबसइट द्वारा रिपोर्ट किये गए वॉल्यूम को जोड़कर प्राप्त किया गया हैं।

इतना ही नहीं, फोर्ब्स की रिपोर्ट में किये गए दावे के अनुसार, नकली वॉल्यूम दिखने में वे क्रिप्टो करंसी की फर्मे सबसे आगे हैं जो बड़ी मात्रा बड़ी बड़ी बाते व दावे करती हैं, और बहुत कम या बिलकुल ही नहीं नियमो का पालन करती हैं व आकड़ो(वॉल्यूम) के साथ मन मर्ज़ी की छेड़-छाड़ करती हैं, फ़ोर्ब्स ने विशेषकर बिनेंस, एमईएक्ससी ग्लोबल और बायबिट।

कुल मिलाकर, फोर्ब्स के अध्ययन में कम-रेगुलेटेड एक्सचेंज वास्तविक मात्रा के लगभग 89 बिलियन डॉलर (जबकि 217 अरब डॉलर का दावा किया गया है) के लिए खाते हैं। फोर्ब्स और बिटकॉइन पर वॉश ट्रेडिंग का प्रसार

फोर्ब्स ने अपनी रिपोर्ट में जो एक महत्वपूर्ण अवलोकन किया है, वह बिटकॉइन पर वॉश ट्रेडिंग के प्रसार, फ़र्ज़ी वॉल्यूम की जाँच और क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंजों पर नियमो व नियामकों के देख रेख की कमी के बारे में है।

मूल रूप से, कुछ व्यापारी यह धारणा लोगो के दिमाग में मजबूती से स्थापित करने के लिए गैर-कानूनी तोर तरीके अपना रहे है जैसे की वह भ्रम फैला रहे है कि डिजिटल एसेट के मूल में वृद्धि हो रही है व एसेट की लोकप्रियता में भी वृद्धि हो रही है और कम्युनिटी में काफी सरे लोग जुड़ रहे है व कम्युनिटी भी बढ़ रही है, जिससे एसेट का ट्रेडिंग वॉल्यूम में बढ़त भी दिखाई देती है व ऐसा भी प्रतीत होता है एसेट की पॉपुलैरिटी भी बढ़ रही है, इन क्रियाओ को वाश ट्रेडिंग के रूप में भी जाना जाता है। अधिकतर समय, इस प्रकार की टोकन ट्रेडिंग को ट्रेडिंग बोट्स के द्वारा दिया किया जाता है, जिससे वॉल्यूम में बढ़ोतरी होती है, और इन सब चीज़ो के बीच लोग पंप एंड डंप को अंजाम देते है।

इसी प्रकार क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंजों के लिए वॉश ट्रेडिंग भी फायदेमंद हो जाती है, क्योंकि यह उन्हें वास्तविक वॉल्यूम की तुलना में अधिक वॉल्यूम के साथ प्रदर्शित होने की सुविधा देता है।

फोर्ब्स के अनुसार: कोई यूनिवर्सल तरीका नहीं है जिससे बिटकॉइन का दैनिक ट्रेडिंग वॉल्यूम मापा जा सके। 

दो महीने पहले, फोर्ब्स ने एफटीएक्स के सीईओ सैम बैंकमैन-फ्राइड इंटरव्यू किया था, जिन्होंने कथित तौर पर बैंकमैन ने कहा बताया था कि उन्हें कैसे लगता है कि कई क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज दिवालिया हैं, भले ही वे इसे छुपाएं।


व्हाट यूअर ओपिनियन
सम्बंधित खबर
संबंधित ब्लॉग
`