सस्ता टोकन का दावा करें रिजर्व का प्रमाण

Worldcoin को रास नहीं आया भारत, कुछ महीनों में ही कहा अलविदा

महत्वपूर्ण बिंदु
  • Worldcoin एक क्रिप्टो स्टार्टअप है जो अपनी ओर्ब-वेरिफिकेशन सर्विस के लिए जाना जाता है, यह अब भारत, ब्राजील और फ्रांस में सेवा प्रदान नहीं करेगा।
  • काफी समय से क्रिप्टो स्टार्टअप को भारत में रेगुलेटरी बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है। माना जा रहा है कि इसी के चलते Worldcoin ने यह कदम उठाया है।
  • Worldcoin की ओर्ब-वेरिफिकेशन सर्विस भारत में अब उपलब्ध नहीं होगी, लेकिन इसका World App देश में यूजर्स को जोड़ना जारी रखेगा।
21-Dec-2023 By: Shailja Joshi
Worldcoin को रास नही

Worldcoin अब भारत, ब्राजील और फ्रांस में सेवा प्रदान नहीं करेगा

Worldcoin एक क्रिप्टो स्टार्टअप है जो अपनी ओर्ब-वेरिफिकेशन सर्विस के लिए जाना जाता है और इसकी इसी खासियत के कारण यह काफी लोकप्रिय हो रहा है। लेकिन Worldcoin अब भारत, ब्राजील और फ्रांस में सेवा प्रदान नहीं करेगा। 

क्रिप्टो स्टार्टअप ने भारत में किया था तेजी से विस्तार 

भारत में लॉन्च के बाद इसने काफी विस्तार किया है इस बीच Worldcoin की यह घोषणा काफी चौकाने वाली है। स्टार्टअप ने कुछ महीनों पहले ही हेलमेट के आकार के ऑय बॉल-स्कैनिंग डिवाइस का विस्तार किया था। 

इसके साथ ही Worldcoin ने नए यूजर्स को प्लेटफ़ॉर्म पर शामिल करने के लिए भारत के कई हिस्सों में पॉप-अप कियोस्क खोले थे और साइन अप करने पर मुफ्त टोकन की पेशकश भी की थी। साथ ही यह भारत में ओर्ब-बेस्ड वेरिफिकेशन का विस्तार करने के लिए और अधिक कॉन्ट्रैक्टर्स को भी नियुक्त कर रहा था। बता दें कि Tools for Humanity ने अपने ग्लोबल टूर से पहले भारत में अपना बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन शुरू किया था। Worldcoin की ओर्ब-वेरिफिकेशन सर्विस भारत में अब उपलब्ध नहीं होगी लेकिन इसका World App देश में यूजर्स को जोड़ना जारी रखेगा। 

Worldcoin के विकास की देखरेख करने वाले The Tools for Humanity foundation ने स्पष्ट किया है कि इन क्षेत्रों में ओर्ब की शुरूआत लिमिटेड टाइम एक्सेस इनिशिएटिव का हिस्सा थी। साथ ही काफी समय से क्रिप्टो स्टार्टअप को भारत में रेगुलेटरी बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है। माना जा रहा है जिसके चलते ही Worldcoin ने यह फ़ैसला लिया है।

हालाँकि कुछ महीनों पहले तक Worldcoin भारत के Aadhaar सिस्टम से काफी प्रभावित था और अपनी तुलना भारत के Aadhaar बायोमेट्रिक ID सिस्टम से की थी। यहाँ तक की CEO Sam Altman ने Aadhaar बायोमेट्रिक ID सिस्टम के समान एक ग्लोबल ID नेटवर्क स्थापित करने का लक्ष्य भी रखा था। लेकिन क्रिप्टो स्टार्टअप ने कुछ ही महीनों में भारत को अलविदा कह दिया है।

कुल मिलाकर, भारत, ब्राजील और फ्रांस में ओर्ब-वेरिफिकेशन सर्विस को बंद करने का Worldcoin का निर्णय मार्केट में बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन के भविष्य पर सवाल उठाता है। यह देखना बाकी है कि कंपनी रेगुलेटरी चैलेंजेज से कैसे निपटेगी और वेरिफाइड यूजर्स के लिए सुरक्षित और पारदर्शी सेवाएं प्रदान करने के अपने मिशन को कैसे जारी रखेगी। 

यह भी पढ़िए :  Musk के एक ट्विट से 500 मिलियन डॉलर बढ़ गई थी DOGE की मार्केट कैप

व्हाट यूअर ओपिनियन
सम्बंधित खबर
संबंधित ब्लॉग
`