सस्ता टोकन का दावा करें रिजर्व का प्रमाण

DeFi क्या है और यह कैसे कम करता है धोखाधड़ी का जोखिम

महत्वपूर्ण बिंदु
  • यह ट्रेडिशनल फाइनेंस की तुलना में अधिक पहुंच, कम शुल्क और एसेट पर अधिक कंट्रोल प्रदान करता है।
  • DeFi नए फाइनेंसियल एप्लीकेशन और सर्विसेज के निर्माण को सक्षम करते हुए इनोवेशन को संचालित करता है।
12-Jun-2023 By: Shikha Jha
DeFi क्या है और यह क

डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस (DeFi) ट्रांसपेरेंसी, स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट और डिसेंट्रलाइज्ड गवर्नेंस मैकेनिज्म के माध्यम से धोखाधड़ी के जोखिम को कम करता है।

डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस (DeFi) एक फाइनेंसियल सिस्टम है जो इंटर मीडिएटर को हटाने के लिए ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का उपयोग करती है और लोगों को डिसेंट्रलाइज्ड तरीके से ऋण, व्यापार और निवेश जैसी फाइनेंसियल सर्विसेज तक पहुंच प्रदान करती है। DeFi ट्रांसपेरेंसी, सिक्योर और ओपन फाइनेंसियल सर्विसेज की पेशकश करने के लिए स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स और डिसेंट्रलाइज्ड ऐप्स (dApps) का उपयोग करता है। यह ट्रेडिशनल फाइनेंस की तुलना में अधिक पहुंच, कम शुल्क और एसेट पर अधिक कंट्रोल प्रदान करता है।

DeFi धोखाधड़ी के जोखिमों को कैसे कम करता है:

DeFi ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का लाभ उठाकर धोखाधड़ी के जोखिम को कम करता है, जो ट्रांसपेरेंसी और अपरिवर्तनीय ट्रांजेक्शन रिकॉर्ड प्रदान करता है, डेटा में हेरफेर या परिवर्तन करने की क्षमता को समाप्त करता है और धोखाधड़ी गतिविधियों को कम करता है।

DeFi कैसे काम करता है?

DeFi स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स का उपयोग करके काम करता है, जो कि खरीदार और विक्रेता के बीच समझौते की शर्तों के साथ सेल्फ-एक्सक्यूटिंग कॉन्ट्रैक्ट हैं जो सीधे कोड की लाइन्स में लिखे जाते हैं। ये स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट ब्लॉकचेन नेटवर्क पर बनाए गए हैं, जैसे Ethereum, और कुछ शर्तों के पूरा होने पर स्वचालित रूप से निष्पादित होते हैं।

यह इंटर मीडिएटर की आवश्यकता के बिना डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंसियल एप्लीकेशन और सर्विसेज, जैसे ऋण देने और उधार लेने वाले प्लेटफार्मों के निर्माण की अनुमति देता है।

DeFi को अपनाने के लाभ

DeFi, फाइनेंसियल सर्विसेज तक अधिक पहुंच प्रदान करता है, व्यक्तियों और छोटे व्यवसायों के लिए फाइनेंसियल इंक्लूजन को बढ़ावा देता है। ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का लाभ उठाकर, DeFi ट्रांसपेरेंसी और सिक्योरिटी करता है और धोखाधड़ी और सेंसरशिप के जोखिम को कम करता है। इंटर मीडिएटर के शामिल न होने से, लागत कम हो जाती है, जिससे फाइनेंसियल सर्विसेज तक अधिक किफायती पहुंच संभव हो जाती है। इसके अलावा, DeFi नए फाइनेंसियल एप्लीकेशन और सर्विसेज के निर्माण को सक्षम करते हुए इनोवेशन को संचालित करता है। DeFi उपयोगकर्ताओं को अपनी एसेट पर अधिक नियंत्रण प्रदान करता है और रेगुलेटरी डिपेंडेंसी को कम करता है।

अंत में, DeFi ट्रेडिशनल फाइनेंसियल सिस्टम को बदल सकता है। यह ग्रेटर एक्सेस, ट्रांसपेरेंसी, सिक्योरिटी, लोअर कोस्ट, इनोवेशन और डिसेंट्रलाइजेशन प्रदान करता है। जैसे-जैसे DeFi आगे बढ़ेगा, यह अधिक फाइनेंसियल सर्विसेज प्रदान करेगा जो दुनिया भर के लोगों और व्यवसायों को लाभान्वित करेगा।

यह भी पढ़े: DeFi सर्विसेज को नियंत्रित करने की जरूरत: US Treasury रिपोर्ट

WHAT'S YOUR OPINION?
Related News
Related Blogs