सस्ता टोकन का दावा करें रिजर्व का प्रमाण

क्या SEC के निशाने पर है सभी क्रिप्टो एक्सचेंज

महत्वपूर्ण बिंदु
  • FTX के संस्थापक और पूर्व CEO Sam Bankman-Fried को SEC द्वारा धोखाधड़ी के 12 अलग-अलग मामलों में आरोपी बनाया गया था।
  • SEC ने Tron के संस्थापक Justin Sun पर भी बाजार में हेरफेर करने जैसे आरोप लगाते हुए मुकदमा दायर किया है।
क्या SEC के निशाने प

अमेरिकी प्रतिभूति और विनिमय आयोग (SEC) क्रिप्टो करंसी से जुड़े लेनदेन एवं इससे जुड़ी अन्य गतिविधियों पर कड़ी निगरानी रखता हैं। अपने इसी कार्य को पूरा करते हुए SEC ने FTX के संस्थापक Sam Bankman-Fried को धोखाधड़ी के विभिन्न मामलों में आरोपी बनाया था। हाल ही में SEC ने Tron के संस्थापक Justin Sun पर भी क़ानूनी कार्यवाही की है।

SEC अमेरिका की उन सरकारी संस्थाओं में से है जो क्रिप्टो करंसी मार्केट में धोखाधड़ी, हेरफेर और अवैध क्रिप्टो माइनिंग जैसी गतिविधियों पर कड़ी निगरानी रखने वाली एक रेगुलेटरी संस्था है। यह देश में चल रही क्रिप्टो करंसी से जुड़ी अवैध गतिविधियों को नियंत्रित करती है। बीते साल में SEC द्वारा उन सभी क्रिप्टो एक्सचेंजों के खिलाफ कार्यवाई की गई है, जो धोखाधड़ी, मनी लांड्रिंग, क्रिप्टो मार्केट में हेरफेर जैसी अवैध गतिविधियों में शामिल थे। लेकिन SEC द्वारा पिछले कुछ समय से की जा रही कार्यवाही, कुछ इस तरह के संकेत देती है, जिससे लगता है कि SEC द्वारा क्रिप्टो करंसी या क्रिप्टो एक्सचेंजों को जानबूझकर निशाना बनाया जा रहा है। 

हाल ही में SEC ने बाजार में हेरफेर के मामले में Tron के संस्थापक Justin Sun के खिलाफ कार्यवाई करते हुए उनपर मुकदमा दायर किया है। इस मुक़दमे में Tron फाउंडेशन के साथ Justin की अन्य दो कंपनियों पर भी मुकदमा दर्ज किया गया हैं। इससे पहले SEC द्वारा FTX के पूर्व CEO Sam Bankman-Fried पर धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए करीब 12 मामलों में मुकदमे दर्ज किये गए थे। जिसके बाद SBF ने कोर्ट में अर्जी लगाई थी कि उनपर दायर किये गये सभी मामले एक ही तरह के है, ऐसे में उनकी संख्या को कम कर केवल एक मामले में ही कोर्ट में सुनवाई की जाए। FTX और Tron वे नाम है, जिनकी खबर मार्केट में बनी हुई हैं, हालांकि SEC द्वारा Coinbase, रिपल जैसे अन्य कई क्रिप्टो एक्सचेंजों पर भी बीते कुछ समय में कार्यवाई की गई है। 

जहां एक तरफ अमेरिका में बैंकिंग संकट है, वहीं SEC लगातार क्रिप्टो एक्सचेंजों को अपने निशाने पर ले रहा हैं, यह बात SEC द्वारा क्रिप्टो करंसी मार्केट को एक तरह से टार्गेट कर कार्यवाई करने की तरह लगती है। जहां अन्य देश क्रिप्टो करंसी और क्रिप्टो एक्सचेंजों की तरफ अपने रुख में नरमी लाते हुए उनके साथ तालमेल बैठाने का प्रयास कर रहे है, वहीं अमेरिका, क्रिप्टो एक्सचेंजों के निशाना बनाकर क्रिप्टो करंसी मार्केट से अपने आपको एक तरह से अलग करने का प्रयास कर रहा हैं। SEC द्वारा लगातार क्रिप्टो एक्सचेंजों पर कार्यवाई का ही नतीजा है, कि रिपल और Binance जैसे कई क्रिप्टो एक्सचेंज अमेरिका से बाहर अपने हेडक्वार्टर बनाने को लेकर विचार कर रहे है।

यह भी पढ़िए : Free Cryptocurrency प्राप्त करने के 5 तरीके

WHAT'S YOUR OPINION?
Related News
Related Blogs